• image

          

गृह मंत्रालय ने सशस्त्र सीमा बल की ख़ुफ़िया विंग की मंजूरी दी 

सशस्त्र सीमा बल की परिचालन क्षमता को बढ़ावा देने के लिए,  गृह मंत्रालय ने खुफिया विंग की स्थापना के लिए 650 पदों की मंजूरी दे दी है।

सशस्त्र सीमा बल को भारत-नेपाल और भारत-भूटान सीमाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है, जहां दोनों तरफ लोगों के आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं है। एसएसबी के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत घनी आबादी वाले पहाड़ी क्षेत्र, मैदानी इलाके, घने जंगल, अविकसित क्षेत्र और अस्थिर इलाके शामिल हैं। दोनों क्षेत्रो के लोगो के बीच मजबूत क्षेत्रीय, सांस्कृतिक और आर्थिक संबंध हैंI वीजा मुक्त व्यवस्था होने के कारन सीमा पर अपराधियों और राष्ट्र विरोधी तत्वों के गतिविधियों पर अंकुश लगाना एक बड़ी चुनौती हैंI सीमा की अधिकांश हिस्सा आईएसआई गतिविधिया, भारतीय विद्रोही समूह (आईआईजी), वामपंथी उग्रवाद (एलडब्ल्यूई), कट्टरपंथी, हथियारों / गोलाबारूद एवं नशीले पदार्थों के तस्कर, , भारतीय नकली मुद्रा और मानव तस्करों से सीमा के अधिकांश हिस्से प्रभावित हैं। इसके अलावा कई अन्य भारत विरोधी तत्व कई अंदरुनी समूहों की मदद से  भारतीय क्षेत्र में परेशानी खड़ी करने की कोशिश करते रहते है।

सीमा के पार समाज विरोधी, राष्ट्र विरोधी तत्वों के मौजूदगी और विध्वंसक बलों बढ़ती गतिविधियों के कारण, सीमा पर व्यापक सीमा प्रबंधन की जरूरत महसूस हुई, क्योंकि यह एक संवेदनशील और कठिन मामला बन गया थाI

इसके अलावा, सशस्त्र सीमा बल को भारत-नेपाल और भारत-भूटान दोनों सीमाओं के लिए लीड इंटेलिजेंस एजेंसी (एलआईए) के रूप में घोषित किया गया है। इस प्रकार, यह महसूस किया गया कि सीमा पर उच्चतम क्षमताओं वाली एक खुफिया नेटवर्क का गठन किया जाये, जो व्यापक सीमा प्रबंधन की प्रमुख आवश्यकता के जरुरत के हिसाब से अपना योगदान कर सके I अपराधियों और तस्करों को नेपाल और भूटान के साथ मैत्रीपूर्ण सीमाओं का फायदा उठाने से रोकने के लिए यह अपेक्षित हो गया था की सशस्त्र सीमा बल ख़ुफ़िया आसूचना के आधार पर अपनी ऑपरेशन को अंजाम दे।

तदनुसार, सीमा पर बल की कार्यक्षमता और संचालन के कर्तव्यनिष्ठा को पूरा करने, जम्मू-कश्मीर में आंतरिक सुरक्षा कर्तव्यों और एलडब्ल्यूई क्षेत्रों में नक्सल कर्तव्यों का पालन और मजबूती से करने के लिए खुफिया विंग की स्थापना के लिए सशस्त्र सीमा बल ने गृह मंत्रालय को एक प्रस्ताव भेजाI तदनुसार, गृह मंत्रालय ने वाहिनी से लेकर बल मुख्यालय तक विभिन्न रैंकों में 650 पदों को मंजूरी दी है I इस नई व्यवस्था से निश्चित रूप से सीमा पर सुरक्षा संरचना, आंतरिक सुरक्षा और एलडब्ल्यूई क्षेत्रों में तैनाती में सुधार आयेगी।

श्रीमती अर्चना रामासुंदरम, महानिदेशक सशस्त्र सीमा बल,  ने इस अवसर पर खुशी व्यक्त की और खुफिया विंग को जल्द कार्यान्वित करने का निर्देश दियाI उन्होंने आत्मविश्वास के साथ कहा कि आने वाले समय में इस विंग की मदद से एसएसबी के प्रदर्शन में उल्लेखनीय सुधार होगा।



Back
SSB Helpline Number:- 1903 (Toll Free)      Recruitment Helpline Number:-(011) 26193929
आगंतुक संख्या : 6185295